life aur money blog for life and how to make extra money, best succeess, motivation and inspiring stories in hindi

Wednesday, 2 December 2015

हमारे देश का नाम भारत क्यों है?

राजा भरत जो के ययाति के 5 बेटो में से एक राजा पुरु का वंसज दुष्यत का बेटा था l
राजा भरत जब बूढ़े हुवे तो हस्तिनापुर (दिल्ही) के नये राजा की शोध करने लगे राजा भरत के 9 पुत्र थे इस लिए राजा भरत ने एक प्रतोगिता आयोजित की उसमे से जो जीते उसको हस्तिनापुर का नया राजा बनेगा लेकिन उसके 9 बेटो में से कोई भी ये प्रतोगिता जित नहीं सका पर राजा भरत के एक अंगरक्षक भुमायु ने ये सारी प्रतोगिता जित ली उसके पहेले भी जब राजा भरत युद्ध में घायल थे और सारे सैनिक भी उसका साथ छोड़ के जा रहे तब भुमायु जो एक सामान्य सैनिक था उसने सारे सेना को रोका और और फिर से युद्ध में शामिल करके के युद्ध जित लिया

Hamare desh ka naam bharat kyu he?



राजा भरत ने देखा के उसके सारे बेटो में राजा बनने के कोई गुण नहीं है लेकिन भुमायु में वो सारे गुण थे जो एक राजा में होने चाहिए तब राजा भरत ने उसके 9 बेटो को राजा न बनाके,भुमायु को हस्तिनापुर का राजा बनाया इस फेसले के कारण उसके 9 बेटो, उसकी 3 पत्नी और उसकी माँ नाराज हुयी लेकिन राजा भरत ने अपनी माँ को कहा के तुम माँ हो इस लिए तुम्हारा नाराज होना सही ये लेकिन में एक राजा हु में अपनी निष्ठा से बंधा हुवा हु मनुष्य की पहचान उसके "कर्म" से होती हे जन्म से नहीं “जो लायक हे वो ही राजा बनेगा“
राजा भरत का ये फेसला सारे “आर्यव्रत” में एक क्रातिकारी सोच साबित हुई उस समय में कर्म के आधारित जातिप्रथा थी पर इस जाती प्रथा को अनदेखा करके कोई राजा एक सामान्य व्यकती को राजा बना दे ऐसा “आर्यव्रत” की जमी पे पहेली बार हुवा था इस लिये राजा भरत के नाम से ही कर्म से व्यकती की पहेचान हो ये सिर्धांत युगो तक ख़त्म ना हो इस लिए उस समय के धर्मगुरु ने सारे “आर्यव्रत” का नाम “भारतवर्ष“ रखा मतलब के "राजा भरत की सोच से आधारित प्रदेश" और ये ही भारतीय होने का मतलब है एक भारतीय मतलब “एक ऐसा मनुष्य जो की हर मनुष्य को उनके कर्म से पहेचाने“ इस तरहा आगे चलके “भारतवर्ष” का नाम बदलके सिर्फ “भारत“ हो गया l


अगर आपको ये article अच्छा लगा हो तो please मुझे comment के माध्यम से बताये और आपके Facebook friends से share करे।


आपके पास हिन्दी में कोई article, stories या कोई जानकारी हो जो हमसे share करना चाहते हो तो हमे अपने photo के साथ e-mail कीजिये। पंसद आने पे आपका article आपके photo के साथ publish किया जायेगा। हमारा e-mail id है lifeaurmoney@gmail.com

Share:

Blog Archive

A request

दोस्तों, आपसे एक निवेदन है की हमारे प्रेरणादायक Article अपने Facebook friends या किसी और माध्यम से share करे ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग एसी Motivation, Inspiring और Success stories पढ़के अपने जीवन को बहेतर बना सके। अगर आपको ये Article अच्छा लगा हो तो please मुझे comment के माध्यम से बताये।

Support

Enter your email address:

Delivered by FeedBurner