Sunday, 31 July 2016

एक दिन का भगवान, one day god best motivation short story in hindi

one day god best motivation short story in hindi


एक दिन भगवान के एक भक़्त ने भगवान से कहा कि "आप खड़े खड़े थक गए होंगे इस लिए एक दिन में आप की जगह पे खड़ा रहता हूं और आप मेरा रूप धारण करके आप आराम करे"।
एक दिन का भगवान, one day god best motivation short story in hindi


भगवान मान जाते है। लेकिन एक शर्त रखते है कि "जो तुम्हारे पास प्राथना करने के लिए आए, तू सिर्फ उसकी प्राथना सुन लेना कुछ बोलना मत। मेने सभी सेवकों के लिए planning कर रखी है। इस लिए तुम्हे चिन्ता करने की जरूरत नही है। कुछ भी हो, तुम कुछ नहीं बोलोगे। भक़्त ये बात मान जाता है।

भगवान आराम करने चले जाते है और भक़्त भगवान की जगह खड़ा रहता है।

सबसे पहले मंदिर में एक Businessman आता है। और बोलता है, " है प्रभु मेने एक factory की शरुआत की है और में ये Business में बहुत ही Successful हो जावू ऐसी प्राथना करता हु"। ऐसा कहते ही वो आदमी जैसे ही माथा टेकने के लिए नीचे जुका की उसका पर्श नीचे गिर गया। उस व्यक्त्ति को ध्यान ही नही रहा की उसका पर्श गिर गया है, वो वहा से चला जाता है।


ये देख के भगवान के रूप में खड़े भक़्त बेचेन हो जाता है। वे सोचता है कि, व्यापारी को रोक के कह दे की आपका पर्श गिर गया है। लेकिन शर्त के कारन वे कुछ भी कर नहीं सकता।

उसके बाद एक गरीब व्यक्त्ति उस मंदिर में आता है। और भगवान को कहता है, "घर में कुछ खाने के लिए कुछ नहीं है भगवान मेरी मदद करो"। तब उसकी नज़र वे पाकिट पे पड़ती है, जो वे बिजनेसमैन की थी। वो ग़रीब दुखी आदमी भगवन का सुक्रिया कर के, पाकिट को उठा के वहा से चला जाता है। वो भक़्त सिर्फ़ देखता रहता है लेकिन कुछ बोल नहीं पाता।


ये घटना के 10-15 मिनिट बाद एक तीसरा आदमी मंदिर में आता है वो नाविक था। वे भगवान से प्राथना करता है कि, "भगवान में समुदर की मुसाफरी में जा रहा हु मेरी रक्षा करना"।

अचानक वो Businessman पुलिश के साथ आता है और नाविक को बताते हुए कहता है कि इसे पकड़ लो मेरे बाद येही इस मंदिर में आया है, इसी ने ही मेरे पर्श की चोरी की है। पुलिस नाविक को पकड़ के ले जा रही थी तभी भगवन का रूप बनान धारण करे हुए व्यक्त्ति से रहा नहीं गया और बोला की ये नाविक निर्दोष है, ये चोर नहीं है। वो भक़्त सारी बात पुलिश को कर देता है। अब पुलिश नाविक को छोड़ के ग़रीब व्यक्त्ति को पकड़ के लेती है।

रात को जब भगवान वापस मंदिर में आये तो भक़्त ने ख़ुशी ख़ुशी सारी बात बताई।

God is great

भगवान ये सब सुन के दुखी हो गए और भक़्त से कहा, "तू खुश मत हो तूने कोई अच्छा काम नहीं किया, तूने किसी का भला नहीं किया। तूने सबके काम बिगाड़ दिए। भगवान ने आगे समजाते हुए कहा मेने तुमसे पहले ही कहा था की मेने सबके लिए planning कर रखी है।


जो व्यपारी का पाकिट गिर गया था वो ग़लत व्यपार कर रहा था उसका पाकिट गिर गया उससे उसको कुछ फर्क नहीं पड़ता। उलटा उसके पाप थोड़े कम हो जाते क्योकि उसका पर्श गरीब व्यक्त्ति को मिला था जिससे उस ग़रीब की कई परेशानी कम हो जाती। और रही बात वो नाविक की वो नाविक जिस समुदर की यात्रा में जाने वाला है उस समुदर में तूफ़ान आने से उसकी मौत होने वाली है। अगर वो जैल में रहता तो उसकी पत्नी विध्वा होने से बच जाती, तूने सारे काम बिगाड़ दिए।


कई बार हमारी Life में भी ऐसे Problems आते है। तब हमको लगता है कि ऐसा मेरे साथ ही क्यू होता है? ये सब भगवान का Planning होता है। so, my friends अब जब भी कोई Problems आये तो निराश होने की जरूरत नही, ये Motivation story को याद करे और सोचिये की "जो भी होता है वो अच्छे के लिए होता है"।



आपको ये Motivation story कैसी लगी हमें comment के माध्यम से जरूर बताएं और hindi में ये story आपको पंसद आई हो और आपको लगता है की ये लेख दूसरों को भी उपयोगी हो सकता है तो अपने friends को निचे दिए हुए share बटन FacebookGoogle+, या Twitter account से share करे। धन्यवाद!

Post a Comment